भारत ने नहीं दिया फॉलोऑन, 346 रनों से आगे; तीसरे दिन 15 विकेट गिरे

मेलबर्न. भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट में शुक्रवार को गेंदबाज हावी रहे। मैच के तीसरे दिन कुल 15 विकेट गिरे, जबकि बल्लेबाज 197 रन ही बना पाए। सबसे ज्यादा आठ विकेट तीसरे सत्र में गिरे, जबकि इस दौरान महज 60 रन बने। पहले सत्र में चार विकेट गिरे थे और 81 रन बने थे। वहीं दूसरे सत्र में 56 रन बने, तीन विकेट गिरे। तीसरे दिन का खेल खत्म होने के समय भारत के दूसरी पारी में पांच विकेट गिर चुके थे, जबकि उसके खाते में 54 रन ही जुड़े थे। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 151 रन पर ऑलआउट हुई। वह फॉलोऑन नहीं बचा पाया। हालांकि, भारत ने उसे फॉलोऑन देने की बजाय बल्लेबाजी का फैसला किया।
भारत 346 रन आगे, पांच विकेट शेष

पहली पारी के आधार पर भारत इस मैच में 346 रन की लीड ले चुका है। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 33 रन देकर छह विकेट लिए। यह उनके करियर का बेस्ट प्रदर्शन है। वहीं, रविंद्र जडेजा ने दो और इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने एक-एक खिलाड़ी को पवेलियन भेजा। ऑस्ट्रेलिया के लिए कप्तान टिम पेन और मार्क्स हैरिस ने सबसे ज्यादा 22-22 रन बनाए। उनके अलावा उस्मान ख्वाजा ने 21, शॉन मार्श ने 19, ट्रैविस हेड ने 20 और पैट कमिंस ने 17 बनाए। उसके पांच खिलाड़ी दहाई के अंक तक नहीं पहुंच पाए। दो खिलाड़ी शून्य पर पवेलियन लौटे।

बुमराह ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, द. अफ्रीका में पांच विकेट लेने वाले पहले एशियाई

जसप्रीत बुमराह एक कैलेंडर ईयर में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में पांच या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले पहले एशियाई गेंदबाज हैं। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान जोहानेसबर्ग टेस्ट में 54, इंग्लैंड सीरीज के ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में 85 देकर पांच-पांच विकेट लिए थे। बुमराह का अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में यह पहला साल है। उन्होंने इस साल जनवरी में केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच खेलकर अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी।

बुमराह ने दिलीप दोषी का रिकॉर्ड तोड़ा

बुमराह अपने टेस्ट करियर के पहले ही साल में अब तक 45 विकेट ले चुके हैं। वे टेस्ट करियर के पहले साल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय बन गए हैं। उनसे पहले यह रिकॉर्ड दिलीप दोषी के नाम था। बाएं हाथ के स्पिनर दिलीप दोषी ने 1979 में टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने उस साल 40 विकेट लिए थे। इस सूची में वेंकटेश प्रसाद तीसरे स्थान पर हैं। 1996 में अपना टेस्ट करियर शुरू करने वाले वेंकटेश ने उस साल 37 विकेट लिए थे।

Comments are closed.

Translate »