नियम विरुद्ध तरीके से शिक्षिका को किया अटैच

38 छात्रों वाली शाला से हटाकर 19 छात्रों वाली शाला में साठगांठ से किया अटैच

नवलोक समाचार, सोहागपुर।
यहां के रेवा बनखेड़ी प्राथमिक विद्यालय में पदस्थ शिक्षिका आशा साहू को बीईओ आर बी चौधरी द्वारा ग्राम आमदेही शाला में अटैच कर दिया, जबकि आमदेही के समीप के ग्राम नकटुआ में 5 शिक्षक है जो कि दर्ज संख्या के अनुपात में अतिशेष है।
बता दे कि ग्राम रेवा बनखेड़ी की शिक्षिका आशा साहू जिनकी विभागीय जांच भी लंबित है को साठगांठ कर ग्राम आमदेही में अटैच कर दिया गया , दरअसल आमदेही शाला वहां पदस्थ शिक्षक के 31 जनवरी को रिटायर्ड होने के चलते शून्य शिक्षक शाला हो गई थी। जिसके बाद रेवा बनखेड़ी में पदस्थ आशा साहू से साठगांठ कर उन्हें आमदेही में शिफ्ट कर दिया जबकि रेवा बनखेड़ी है कक्षा पहली से पांचवी तक 38 छात्र दर्ज है। बताया जा रहा है की नियम विरुद्ध किये गए आसंजन में संकुल प्रचार्य को भनक तक नही लगी, जबकि संकुल प्रचार्य के प्रस्ताव के बाद ही आवश्यकता के चलते अटैचमेंट किया जा सकता है वह भी अतिशेष शिक्षक या ऐसी शाला जो बन्द होने की कगार पर है। लेकिन ऐसा नही किया गया , गौरतलब है कि रेवा बनखेड़ी में पदस्थ शिक्षिका अनिता बरकड़े जो अब अकेली पांच कक्षाओं को संभालेगी , की जांच भी चल रही है , उक्त शिक्षिका लंबे समय तक गैर हाजिर रही है , और तत्कालीन संकुल प्रचार्य वेतन निकलता रहा है। इसके साथ साथ जिस शिक्षिका का अटैचमेंट किया गया उसकी भी जांच लंबित है, ऐसे में आशा साहू को आमदेही में अटैच किये जाने की चर्चा भी शिक्षा विभाग में चल रही है विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि आमदेही के नजदीक के ग्राम नकटुआ में 5 शिक्षक है, ग्राम हीरापुर में 4 छात्र और 2 शिक्षक है,भट्टी में 7 छात्र है और 2 शिक्षक पदस्थ है। बता दे कि सोहागपुर ब्लाक से करीब 6 शालाएं छात्र संख्या 10 से कम होने पर बन्द किया जाना है जिसका प्रस्ताव भी विभाग को भेजा गया है और उन बन्द होने वाली शालाओ के शिक्षकों को शून्य शिक्षक शाला अथवा दर्ज संख्या ज्यादा वाली शालाओ में भेजा जाना है।

Comments are closed.

Translate »