Navlok Samachar
Breaking Newsआसपासग्रामीण ख़बर

सोहागपुर – सरपंचो को दरकिनार कर , सरपंची पर परिजनों का कब्जा

सरपंचो की जगह उनके पति , भाई तो कहि ससुर चला रहे पँचायत , कुछ पंचायतों में बाहरी लोगो का हस्तक्षेप

नवलोक समाचार,सोहागपुर।

सरकारें भले ही महिला शसक्तीकरण की दुहाई देती रहे, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिशें करती रहे लेकिन आज भी परुषों और दबंगो के हस्तक्षेप के चलते निर्वाचित प्रतिनिधि नही बल्कि उनके परिजन पंचायतो में हक़ से काम ही नही कर रहे बल्कि खुद सरपंच कहला रहे है। महिला सरपंचो के पतियो को सरपंच प्रतिनिधि नाम दे दिया गया। बकायदा वे सरकारी बैठकों , प्रशिक्षणों में शामिल हो रहे है, इतना ही नही सरपंच संघ की बैठकों में भी सरपंचो की जगह उनके पति , भाई और ससुर शामिल हो रहे है।

मंगल भवन में सरपंच संघ की बैठक में सरपंच पति , ससुर और भाई हुए शामिल , निर्वाचित प्रतिनिधियों के पदों पर हस्तक्षेप

बता दे कि पंचायते लोकतांत्रिक व्यवस्था की निचली सीढ़ी है जहां से गांव के विकास की शुरुआत होती है, पंचायतीराज को सरकार ने सुद्रण बनाने पंचायतो को अधिकार और हक सौपे है, वही महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देकर महिला शशक्तिकरण को बढ़ावा देने का प्रयास भी सरकारे करती आ रही है, पंचायत चुनाव के बाद सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने स्पष्ट कहा था कि निर्वाचित प्रतिनिधियों के स्थान पर कोई अन्य काम नही करेगा ऐसा पाया जाने पर कार्यवाई की जाए, लेकिन मुख्यमंत्री के उक्त कथन की धज्जियां उड़ा दी गई है। सोहागपुर जनपद क्षेत्र में सरपंचो के प्रशिक्षण में पलादेवरी की महिला सरपंच सोनम पटेल के स्थान पर उनके ससुर साहब सिंह पटेल मीटिंग में शामिल हुए वही ग्राम पंचायत नयागांव की सरपंच खुशबू रघुवंशी के स्थान पर उनके पति बैठक में शामिल हुए, उधर ग्राम शोभापुर में महिला सरपंच के पति शैलेंद्र शाह पत्नी के स्थान पर पंचायत के सभी काम देख रहे हैं।
उधर शुक्रवार को सरपंच संघ द्वारा मंगल भवन में रखी गई बैठक में भी कई पंचायतो के सरपंचो के स्थान पर उनके पति , ससुर और भाई आदि शामिल हुए, सरपंच संघ को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं दरअसल सरपंचो में भी गुटबाजी है, अभी जो सरपंच संघ दिखाई दे रहा है उसमें महज 22 से 25 सरपंच नजर आ रहे हैं जबकि सोहागपुर जनपद क्षेत्र में 60 से ऊपर पंचायते है। बताया जा रहा है कि सरपंच संघ को बनाने को लेकर सभी सरपंचो को विश्वास में नही लिया गया।

Related posts

परीक्षा दो या न दो, 25 हजार में 10वीं और 30 हजार रुपए में 12वीं पास होने की गारंटी

mukesh awasthi

प्रदेश को कर्ज में डुबोया शिवराज ने -कमलनाथ

mukesh awasthi

बैतूल जिला रहा सबसे ठंडा, न्यूनतम तापमान 2.3 डिग्री दर्ज, शाजापुर और राजगढ़ में स्कूलों की छुट्‌टी

mukesh awasthi
G-VC9JMYMK9L