Navlok Samachar
Breaking Newsराज्य

57 करोड के फर्जी डूबतऋण घोटाला संज्ञान में आते ही बैंक सीईओ आरके दुबे को सागर स्थानान्तण किया

नवलोक समाचार, नर्मदापुरम। जिला सहकारी बैंक में वर्ष 2009 से पदस्थी  के दरम्यान आरके दुबे पर अब तक 300 करोड रूपये की आर्थिक अनियमिततायें,गबन, धोखाधडी कर बैंक को डुबोने की अनेक शिकायतों की जा चुकी है जिनसे स्वयं को बचाये रखने वाला उक्त भ्रष्ट अधिकारी वर्ष 2019 के बाद के दो सालों में डूबत ऋण एवं संदिग्ध डूबत ऋण में 57 करोड 52 लाख का फर्जी संदिग्ध घोटाला करने के बाद स्वयं को बचा नहीं पाया और नागरिक अधिकार जनसमस्या  निराकरण समिति के अध्यक्ष द्वारा मामला उठाये जाने पर आखिरकार दुबे को नर्मदापुरम से हटाकर जिला सहकारी बैंक सागर के मुख्यकार्यपालन अधिकारी बनाकर भेजा गया है ताकि उसके खिलाफ की गयी शिकायत की निष्पक्ष जॉच की जा सके 1
इधर प्रमुखसचिव श्री केसी गुप्ता  के समक्ष नागरिक अधिकार जनसमस्या  निराकरण समित के अध्युक्ष आत्माराम यादव के नेत़त्व  में संस्था का एक प्रतिनिधि मण्डल 12 सितम्बर 2022 को मिलने पहुचा था जहॉ श्री दुबे को हटाने की मॉग कर बैंक में ताला डलने की नौबत न आने एवं किसानों को 20 करोड भुगतान बकाया होने एवं दुबे पर 28 करोड रूपये रीवा मामले में अनियमितताओं के निराकरण से पूर्व वापिस अपेंक्स बैंक में संविलियन किये जाने सहित सभी भ्रष्टाचार के मामले रखे जाने पर प्रमुखसचिव द्वारा संज्ञान में लेने पर अपेक्स् बैंक द्वारा अपने आदेश क्रमांक-म.प्र./मुख्य/13/केडर/प्रस/1430 दिनॉंक- 16 सितम्बर 2022 के द्वारा श्री आरएस भदोरिया को नर्मदापुरम जिला सहकारी बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के पद किया किन्तु आरके दुबे के सम्बन्ध् में कोई निर्देश नहीं दिये जाकर उनकी मौखिक स्वीरक़ति से दुबे को यथावत रखा जो बैंक से बिना काम किये वेतन प्राप्त  करता रहाा

जिला सहकारी बैंक का मास्टर माइंड सीईओ आर के दुबे

नागरिक अधिकार जनसमस्यां निराकरण्‍ समिति द्वारा 31 अक्टूम्बर 2022 को बैंक प्रशासक एवं कलेक्टर नीरजकुमार सिंह सहित प्रमुख सचिव सहकारिता केसी गुप्ताट, कमिश्‍नर क़षि उत्पादन शैलेन्‍द्रसिंह सहकारिता आयुक्तु एसके गुप्ता , तत्कालीन नर्मदापुरम कमिश्नर मानसिंह जी के संज्ञान में आरके दुबे द्वारा वार्षिक आमसभा में प्रस्तुत वार्षिक प्रतिवेदन में बैंक में 57 करोड का डूबन्तं एवं संदिग्ध डूबन्त ऋण मद में 57 करोड का घोटाला किये जाने का मामला उठाते हुये अवगत कराया कि दिनांक 16/09/2022 को अपेक्स बैंक के केडर अधिकारी आर.एस. भदौरिया की पदस्थी के बावजूद आरके दुबे द्वारा दिनांक 24/09/2022 को बतौर मुख्यकार्यपालन अधिकारी के बैंक की वार्षिक आमसभा में 112 वाँ वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया जिसमें वर्ष 2020-21 में 1370.07 लाख दर्शाकर इस संदिग्ध सुबन्त ऋण खाते में 1,202.1 लाख बढ़ाये एवं वर्ष 2021-22 में यह आँकड़े 2508.15 लाख चढ़ गये। एक वर्ष में संदिग्ध डूबन्त ॠण खाते में रूपये 1138.08 लाख एवं दो वर्ष में 2340.18 लाख की राशि डूबना अपने आप में बडा फर्जीवाडा है जिसहेतु आरके दुबे जिम्मेखदार है और उक्ता पर आपराधिक मामला दर्ज कराया जाना बैंक हित में हैा
मुख्यकार्यपालन अधिकारी आरएस भदौरिया के स्थान पर आर. के. दुबे द्वारा प्रस्तुत वार्षिक प्रतिवेदन में प्रस्तुत संदिग्ध एवं डूबत ऋणकोष राशि में दो वर्ष में 2200 लाख रूपये का संदिग्ध डूबन्त ऋण 35127 लाख की बढोत्तरी को न तो आमसभा पटल पर पढ़ा गया न ही किसी ने इसे बैंक प्रशासक ने उचित समझा,उल्टेो प्रशासक ने चूक कर इस पर आभार व्यीक्‍त कर उक्तस फर्जीवाडे पर अपनी सहमति देकर दुबे को संरक्षण दिये जाने पर नागरिक अधिकार जनसमस्यां निराकरण समिति अध्य क्ष आत्माराम यादव द्वारा ऐसी स्थिति में दुबारा बैंक की आमसभा भदौरिया द्वारा बुलाकर समस्त बिन्दुओं को संज्ञान में लेकर आरके दुबे द्वारा फर्जी आँकड़ों एवं षड़यंत्र से बैंक के करोड़ों रूपये का इन ऋण खातों में गोलमाल करने पर कर्जदारों के नाम, खाते सार्वजनिक किये जाने की मॉग को प्रमुखसचिव सहकारिता श्री केसी गुप्तां जी व क़षि उत्पा़दन आयुक्तग शैलेन्द्र सिंहजी ने गंभीरता से लेते हुये अपेक्स बैंक को निर्देशित किये जाने पर अपेक्स बैंक के प्रभारी संचालक संचालक पीएस तिवारी द्वारा अपने आदेश क्रमांक/मप्र/(मुख्या )1/3/ केडर/ प्रसं/ 2020 दिनॉंक 19 नवम्बर 2022 के द्वारा आरके दुबे मुख्‍यकार्यपालन अधिकारी के पद पर जिला सहकारी बैंक सागर किया गया है जिस हेतु संस्था ने सभी अधिकारियों के प्रति आभार माना गया है ।                   बैंक प्रशासक से श्री दुबे को तत्‍काल रीलिव करने की मॉग
नागरिक अधिकार जनसमस्‍या निराकरण समिति के अध्‍यक्ष आत्‍माराम यादव ने जिला सहकारी केन्‍द्रीय बैंक नर्मदापुरम के प्रशासक व कलेक्‍टर नीरजकुमार सिंह से जिला सहकारी बैंक के मुख्‍यकार्यपालन अधिकारी आरके दुबे के सागर स्‍थानान्‍तरण हो जाने पर उन्‍हें तत्‍काल बैंक से रिलीव करने की मॉग की हैाा  श्री यादव के अनुसार अपेक्स बैंक के प्रभारी संचालक संचालक पीएस तिवारी द्वारा अपने आदेश क्रमांक/मप्र/(मुख्या )1/3/ केडर/ प्रसं/ 2020 दिनॉंक 19 नवम्बर 2022 के द्वारा आरके दुबे मुख्‍यकार्यपालन अधिकारी के पद पर जिला सहकारी बैंक सागर किया गया किन्‍तु आरके दुबे बैंक सीईओ आरएस भदोरिया के नर्मदापुरम बैंक में पदस्‍थ होने के बाद दूसरे केडर अधिकारी के पद पर रहते हुये बिना काम किये वेतन प्राप्‍त कर रहे थे जिससे बैंक की वित्‍तीय स्थिति बिगड रही थी, चॅूकि श्री दुबे का मोह इस बैंक से टूटा नही है और वे कर्मचारियों को दबाव देकर यहॉ बने रहने का कहकर अपना प्रभाव बनाये रखना चाहते है जिससे उनका भय बरकरार हैा उक्‍त आदेश के बाद बैंक प्रशासक कलेक्‍टर महोदय को चाहिये कि वे तत्‍काल बैंक हित में बैंक के मुख्‍यकार्यपालन अधिकारी के बतौर आरएस भदोरिया के पदस्‍थ रहते हुये निष्‍पक्ष काम करने को ध्‍यान में रखकर अतिरिक्‍त मुख्‍यकार्यपालन अधिकारी के पद पर बिना वेतन के बैंक में रह रहे श्री दुबे को तत्‍काल रिलीव कर  उत्‍पन्‍न विरोधाभाषी स्थिति को समाप्‍त करेंगेा

Related posts

बढ़ता सोशल मीडिया और गिरता जा रहा पञकारिता का स्‍तर, परिणाम भयाभय हो सकते है.

mukesh awasthi

शिवराज की घोषणाओं का हिसाब लगाए तो भारत सरकार का बजट ही खत्म हो जाये – कमलनाथ

mukesh awasthi

भोपाल की 7 सीटें… अब मैदान में 111 उम्मीदवार, हुजूर में डागा हटे, लेकिन बैरसिया में रत्नाकर डटे

mukesh awasthi
G-VC9JMYMK9L