Navlok Samachar
आसपासराज्य

समाज जिम्मेदार है, जागरूकता की आवश्यकता है : डॉ सीतासरन शर्मा

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत जिले के 144750 किसानों के खातों में 28 करोड़  से अधिक की राशि की गई अंतरित

नवलोक समाचार, नर्मदापुरम ।  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत प्रदेश के लगभग 82 लाख किसानों को 1700 करोड़ से अधिक की राशि का सिंगल क्लिक से वितरण किया। जिसमे नर्मदापुरम जिले के 144750 किसानों के खातों में 28 करोड़ से अधिक की राशि अंतरित की गई। मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंर्तगत राशि वितरण का जिला स्तरीय कार्यक्रम कृषि उपज मंडी नर्मदापुरम में विधायक नर्मदापुरम डॉ सीतासरन शर्मा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर नर्मदापुरम श्री नीरज कुमार सिंह, अपर कलेक्टर श्री मनोज सिंह ठाकुर , श्री पियूष शर्मा , श्री भूपेंद्र चौकसे , श्री अमीन राइन , श्री सागर शिवहरे, श्री अर्पित मालवीय, श्री नरेंद्र पटेल सहित अन्य जनप्रतिनिधि , अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान की उपस्थित में रीवा में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम को लाइव प्रसारण के माध्यम से  देखा और सुना गया।      विधायक नर्मदपुरम डॉ शर्मा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा की प्रदेश सरकार किसानों के कल्याण के लिए निरंतर कार्य कर रही हैं। जनप्रतिनिधि हो या प्रशासनिक अधिकारी, रूप  जो भी हो चिंतन के केंद्र में केवल जनता का कल्याण ही हैं।  बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत 6 हजार और मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत के 4 हजार इस प्रकार कुल 10 हजार की राशि प्रतिवर्ष किसानों के खातों में डाली जा रही है। यह राशि  हमारे छोटे किसानों के लिए बहुत उपयोगी हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामों के विकास के बारे में सर्वप्रथम पूर्व प्रधानमंत्री स्व श्री अटल बिहारी वाजपई जी ने सोचा। अटल जी द्वारा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ग्रामों में सड़कों का जाल बिछाया गया। इसे आगे बड़ाकर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना , मुख्यमंत्री खेत सड़क योजना लागू की। केंद्र एवं प्रदेश सरकार देश व प्रदेश का चुहुमुखी विकास कर रही है। डॉ शर्मा ने कार्यक्रम में लाभन्वित किसानों को बधाई देते हुए वृक्षारोपण एवं प्राकृतिक खेती के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि समाज जिम्मेदार हैं, जरूरत सिर्फ जागरूकता की है। अपील की कि वृक्ष से वर्षा, वर्षा से अन्न , अन्न से जीवन है। इसलिए प्राकृतिक खेती की ओर बड़े सतही जल का उपयोग करे और भूमिगत जल का संचय करें।      कलेक्टर श्री नीरज कुमार सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का लाभ जिले के सभी पात्र किसानों को मिले इसके लिए पूरी मुस्तैदी से सभी किसानों का सत्यापन किया गया है। उन्होंने कहा कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है। इससे अब पूरी पारदर्शिता के साथ पात्र हितग्राही लाभान्वित हो रहे हैं। कलेक्टर श्री सिंह ने गेहूं के देरी से भुगतान पर किसानों का संशय दूर करते हुए कहा कि किसानों के आधार लिंकेज और पीएफएमएस पोर्टल पर लिंक न होने के कारण भुगतान में विलंब हो रहा है। ऐसे सभी किसानों की सूची हमारे पास है। अब पूर्व की भांति किसानों के खाता नम्बर लेकर उन्हें उपार्जित फसल का भुगतान किया जाएगा। इसके लिए समितियों को निर्देशित भी किया गया है। किसानों की भुगतान संबंधी समस्या का निदान होगा। उन्होंने बताया की जिले के बनखेड़ी में जैविक खेती के संबंध में 20 मई को बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा हैं। जिसमे किसानों की जैविक / प्राकृतिक खेती के लिए मार्गदर्शन दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती में रुचि रखने वाले किसानों की चाहे व जैविक बीज , खाद हो या मार्केटिंग हर प्रकार से मार्गदर्शन एवं आवश्यक सहयोग दिया जायेगा। इसके लिए पोर्टल भी लॉन्च किया गया है, जिस पर किसान अपना पंजीयन करा सकते है।    श्री पियूष शर्मा ने कहा कि फसल उत्पादन एवं उसकी गुणवत्ता में नर्मदापुरम जिला अग्रणी है। यही गुणवत्ता और उत्पादन क्षमता बनाएं रखने के लिए आवश्यक है कि हम प्राकृतिक खेती और जल संरक्षण की दिशा में आगे बड़े। उप संचालक कृषि श्री जे आर हेड़ाऊ ने फसल विविधिकरण और प्राकृतिक खेती के फायदों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन श्री राजेश चौरे ने किया।

Related posts

गोपाल के गढ़ में गरजे कमलनाथ, बीजेपी सरकार को बताया किसान विरोधी सागर। विनोद जैन।

mukesh awasthi

बैतूल के शाहपुर में गेहूं खरीदी के चलते, किसानों की शिकायत पर विधायक और एसडीएम पहुंचे उप मंडी

mukesh awasthi

मंत्री पद के लिए इन 36 नामों की हो रही है चर्चा

mukesh awasthi
G-VC9JMYMK9L