मप्र में जोरदार बारिश के आासार – भोपाल में अब तक धुआधार बारिश, फिर भी अभी कसर बाकी

0
98

नवलोक समाचार, भोपाल.

पिछले 15 दिन पूर्व ही मानसून मंडला, जबलपुर से मानसून प्रदेश में प्रवेश हुआ था, इस बार इन्हीं जिलों में अब तक सामान्य से ज्यादा बारिश हुई है। जबकि भोपाल में अब तक 11%कम पानी बरसा है। यहां 16.67 सेमी बारिश की जगह 14.89 सेमी बारिश ही हुई है। हालांकि शुक्रवार को सुबह से रात तक 4.58 सेमी बारिश हुई, जो कि इस सीजन में एक दिन में सबसे ज्यादा हैै। माैसम विशेषज्ञ एसके नायक ने बताया कि मप्र में 5 जुलाई तक सामान्य से 7 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है। सबसे ज्यादा 70 फीसदी बारिश दमाेह जिले में हुई। नरसिंहपुर में 46, जबलपुर में 26, मंडला में 22, कटनी में सामान्य से 13 फीसदी ज्यादा पानी बरस चुका है। जबकि सीधी जिले में सामान्य से 73 फीसदी कम, रीवा में 63, छिंदवाड़ा में 46, पन्ना एवं सिंगरौली में 44, बालाघाट में 36, सतना में 30% कम बारिश हुई।

खंडवा : 15 घंटे में 6 इंच बारिश खंडवा जिले में गुरुवार-शुक्रवार की रात 3 बजे शुरू हुई बारिश से नदी-नाले उफान पर आ गए। 15 घंटे में 6 इंच बारिश हो गई। इससे आस-पास की सभी नदियां उफान पर आ गई। 

ग्वालियर : पूरे अंचल में झमाझम भिंड, श्योपुर समेत पूरे अंचल में शुक्रवार को झमाझम बारिश हुई। भिंड में तीन घंटे में 70 मिमी बारिश हुई। श्योपुर में बंजारा बांध ओवरफ्लो हो गया। ग्वालियर में 45.5 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई।

भोपाल समेत दक्षिणी मप्र में आज से कम हो सकती है मानसूनी गतिविधि : वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि 7 दिन से रिमझिम बारिश से भीग रहे भोपाल सहित दक्षिणी मप्र में शुक्रवार से रविवार तक मानसूनी गतिविधि कम हो सकती हैं। कारण- उत्तरी मप्र के बीच वाले हिस्से में बना लो प्रेशर एरिया उत्तर प्रदेश और उससे सटे मप्र के रीवा संभाग में शिफ्ट हो गया है। शहडोल, रीवा और सागर संभाग में इन तीन दिनो में बारिश बढ़ेगी। वही मौसम विभाग ने होशंगाबाद बैतूल और नरसिहपुर सहित आसपास के जिलो में अतिवर्षा होने की संभावना व्‍यक्‍त की है इसके लिये प्रशासन भी अलर्ट जारी कर चुका है, बाढ राहत केंद्र भी सक्रिय है बता दें कि नर्मदा किनारे वाले क्षेञ में इस बार पानी भरने आदि की समस्‍या आ सकती है जिसके चलते इस बार प्रशासन ने बाढ राहत टीम सहित सभी थानो और प्रशासनिक अधिकारियो को किसी भी परिस्‍थति से निपटने की तैयारी रखने के आदेश जारी किये है.

साभार