सांसद राव उदय प्रताप से क्षेञ में नाराजगी, लेकिन टिकिट के लिये प्रबल दावेदार

0
396

नवलोक समाचार, होशंगाबाद.

पिछले दस सालो से दोनो ही पार्टी का सत्‍ता सुख प्राप्‍त करने वाले सांसद राव उदय प्रताप सिंह से होशंगाबाद सहित नरसिंहपुर जिले में भी लोगो नारजगी व्‍यक्‍त कर रहे है, फारि भी उदय प्रताप सिह ही होशंगाबाद संसदीय क्षेञ से भाजपा से प्रबल दावेदार बताये जा रह है. बता दें कि होशंगाबाद में सांसद की गुम शुदगी के पोस्‍टर लग चुके है तो सोहागपुर में पिछले पांच सालो से ट्रेनो से स्‍टापेज की मांग कर रहे है लोगो की मांग पूरी नही कर पाये है.

वर्ष 2009 में कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीतकर भाजपा के किले को फतह करने वाले राव उदय प्रताप ने कांग्रेस पार्टी के वरिष्‍ठ नेताओ की नाराजगी के चलते 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान पाला बदल कर भाजपा का दामन थाम लिया था और वे 2014 में भाजपा की टिकट पर चुनाव लडकर दूसरी बार संसद पहुंचे थे, लेकिन इस बार के लोक सभा चुनाव में उन्‍हें विरोध का सामना कर पड रहा है, भाजपा की टिकट पर पुन लोक सभा चुनाव मैदान में आने के लिये राव उदय प्रताप प्रबल दाबेदार है. लेकिन अब उन्‍हें जहां तहां विरोध झेलना पड रहा है, पिछले दिनो पिपरिया के सहलबाड़ा में उन्‍हे ग्रामीणो ने गांव में घुसने दिया था तो होशंगाबाद में नदारद रहने पर लोगो ने गुमशुदगी के पोस्‍टर भी चिपका दिये थे. वही होशंगाबाद जिले की सोहागपुर तहसील में जबलपुर नई दिल्‍ली श्रीधाम सहित हबीबगंज जबलपुर इं‍टरसिटी ट्रेनो के ठहराव के लिये पिछले पांच सालो से लोगो की मांग पूरी नही कर पाये है.

उधर नरसिंहपुर जिले की बात करे तो चीचली में पीतल उधोग भी प्रभावित होता जा रहा है, पीतल उधोग, पीतल के बर्तन बनाने आदि को काम को बढावा देने के लिये किसी ने कोई प्रयास नही किया है. न ही न‍रसिंहपुर करेली में युवाओ को रोजगार देने कोई कारखाने आदि स्‍थापित कर पाये है.

मोदी के भरोसे उदय प्रताप.

लोक सभा चुनाव की तारीख घोषित होने के बाद से ही क्षेञीय सांसद राव उदय प्रताप ने जन संपर्क भी शुरू कर दिया है, इसे देखकर कहा जा रहा है कि यहां से पुन- उन्‍हे ही मौका दिया जा रहा है, क्षेञ में जा रहे है सांसद पीएम आवास योजना सहित पीएम जन आरोग्‍य योजना का हवाला ही दे रहे है, सांसद द्वारा ऐसे कोई काम नही कराये गए जिनकी दम पर वे वोट मांग सके. बता दें कि सांसद द्वारा गोद लिये गए होशंगाबाद के सांगाखेड़ा और नरसिंहपुर के लोलरी सहित करपगांव की हालत खस्‍ता है जहां सड़के तक ठीक से नही बन पाई है.