नपाध्यक्ष के करीबी मनीष ने ही मारी थी गोली, चुनाव में 5 लाख खर्च और जमीन विवाद को लेकर गुस्से में था

0
157

इंदौर/मंदसौर. नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गुरुवार शाम गोली मारकर हत्या उनके करीबी और भाजपा नेता मनीष बैरागी ने की थी। वारदात की वजह जमीन विवाद के साथ ही चुनाव के समय मनीष द्वारा 5 लाख रुपए खर्च करना और वापस नहीं मिलना बताया जा रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार जमीन विवाद में कुछ राजनीतिक लोगों के नाम भी सामने आने की संभावना है। शुक्रवार दोपहर निकली अंतिम यात्रा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित भाजपा सांसद और विधायक सहित हजारों लोग शामिल हुए।
यह है मामला : शाम 7 जानकारी बंधवार (56) परिचित के घर पर आयोजित शादी-समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे। इस दौरान वे मित्र नई आबादी निवासी लोकेंद्र कुमावत की दुकान पर रुके। उन्होंने लोकेंद्र के नौकर को लिफाफा और 500 रुपए खुल्ले कराने भेजा। बंधवार दुकान के बाहर ही खड़े रहकर नौकर का इंतजार कर रहे थे। तभी बुलेट (सीआईयू 1834) पर सवार होकर एक अज्ञात युवक वहां पहुंचा। उसने नपाध्यक्ष की कनपटी पर बहुत ही करीब से नाइन एमएम पिस्टल से गोलियां दागी और बुलेट छोड़कर वहां से भाग गया। इसी दौरान वहां नयापुरा जैन मंदिर के पास निवासी दिनेश लोढ़ा पहुंचे। उन्होंने नपाध्यक्ष को पहचाना और आॅटो से उनको जिला अस्पताल पहुंचाया। सूत्रों की माने तो आरोपी मनीष बैरागी को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन पुलिस की ओर से अब तक कोई जानकारी नहीं दी गई है।
पहले नमस्ते किया फिर मार दी गोली : सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला ने बताया फिलहाल एक प्रत्यक्षदर्शी लोकेंद्र कुमावत मिला है। उसने बताया कि वारदात का आरोपी मनीष बुलेट पर सवार हाेकर आया था। उसने पहले बंधवार से नमस्ते किया। इसके बाद कुछ बात कर रहा था तभी दोनों के बीच कहासुनी हो गई। इसी दौरान मनीष ने जेब से पिस्टल निकाली और बंधवार पर दो फायर किए। पुलिस को भी मौके से दो खाली खोखे मिले हैं।