तीन दिन बाद पड़ सकती है कड़ाके की ठंड, 24 घंटे में पारा 11 डिग्री लुढ़का

0
133

भोपाल. लगातार तीसरे दिन गुरुवार को रात का तापमान 8.0 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 3.6 डिग्री कम था। हालात यह थे कि बुधवार को शाम 5:30 से गुरुवार को सुबह 5:30 तक तापमान में 11 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक अभी 21 जनवरी से कड़ाके की ठंड का एक और दौर शुरू होगा। यानी अभी ठंड से राहत मिलने की उम्मीद कम ही है।
वहीं, प्रदेश गुरुवार को सबसे कम तापमान खजुराहो में 1.5 डिग्री दर्ज किया गया। इसके साथ ही दमोह, उमरिया, ग्वालियर और मंडला समेत 10 शहरों का तापमान 5 डिग्री या उसके आसपास दर्ज किया गया है।

इधर, संक्रांति के बाद सूर्य के उत्तरायण होते ही शहर में दिन के तापमान में 3.6 डिग्री का इजाफा हुआ। दस दिनों के बाद दिन का तापमान 27 डिग्री के करीब पहुंचा। बुधवार को दिन का तापमान 26.8 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 2 डिग्री ज्यादा रहा। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि राजस्थान के पास हवा के ऊपरी हिस्से में चक्रवाती घेरा बन गया है। इस वजह से दिन के तापमान में इजाफा हुआ है।

ऐसे कश्मीर पहुंचता है चक्रवात : हवा का एक चक्रवात देश के पश्चिमी हिस्से अफगानिस्तान, पाकिस्तान से होता हुआ कश्मीर पहुंचता है। इसके कारण वहां मौसम बदलता है। बारिश और बर्फबारी होती है। इसका असर हमारे यहां होता है।

इसलिए पड़ेगी कड़ाके की ठंड

कश्मीर पहुंचने वाला सिस्टम सीजन का सबसे स्ट्रांग होगा। इस वजह से उत्तरी इलाकों में भारी बर्फबारी होगी।
उत्तर भारत में बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी होगा। वहां से आने वाली सर्द हवा से ठंड बढ़ेगी।

सीजन की सबसे तेज ठंड की संभावना

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि 18, 19, 20 जनवरी को तापमान में इजाफा हो सकता है। 21 जनवरी से भोपाल सीजन की सबसे तेज ठंड पड़ सकती है। शीतलहर भी चलने का अनुमान है। तापमान भी सामान्य से कम रहने का अनुमान है।

पिछले साल की जनवरी से इस बार ज्यादा ठंड

इस बार जनवरी पिछले साल की तुलना में ज्यादा सर्द है। अभी तक इस माह 17 में से सिर्फ 3 दिन ही रात का तापमान 10 डिग्री के पार पहुंच सका है। इनमें भी 8 दिन (7, 8, 9, 10, 15, 16 और 17 जनवरी) तो रात का तापमान 8 डिग्री से भी कम रहा। इससे पहले 2013 में जनवरी में ऐसी ठंड पड़ी थी। मौसम एक्सपर्ट एसके नायक ने बताया कि पिछले साल जनवरी के अंत में 25 जनवरी को सबसे कम तापमान 6.6 डिग्री रहा था। इस बार लगातार 16 दिन से मौसम सर्द है।

शीतलहर की चपेट में शहर तीखी धूप से 2.80 चढ़ा पारा

दो दिन से शहर शीतलहर की चपेट में है। इससे फिर से कड़ाके की सर्दी का दौर शुरू हो चुका है। हालांकि गुरुवार को सुबह से तीखी धूप रही। इससे दिन में लोगों को सर्दी से राहत जरूर मिली, लेकिन शाम होते ही फिर से सर्द हवा ने ठिठुरन बढ़ा दी। इससे रात 9 बजे के बाद ही सड़कों व बाजार में सन्नाटा पसर गया। मौसम विभाग के अनुसार, अभी कुछ दिन तक कड़ाके की सर्दी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

मौसम वैज्ञानिक उमाशंकर चौकसे के मुताबिक, इसका कारण लगातार पश्चिमी विक्षोभ का बनना है। इससे पहाड़ों में बर्फबारी हो रही है, जिसके चलते पूरा अंचल शीतलहर की चपेट में है। गुरुवार को बादल छाने व नमी की मात्रा बढ़ने के कारण दिन का तापमान 2.8 डिग्री सेल्सियस बढ़त के साथ 25.2 डिग्री दर्ज किया गया। सुबह 5 से लेकर 9 बजे तक 5 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा।