नरेला सीट से हारे महेंद्र सिंह चौहान ने सूद, कैलाश मिश्रा सहित सात अन्य के खिलाफ की सैबोटेज की शिकायत

0
64

भोपाल। विधानसभा चुनाव में सैबोटेज को लेकर कांग्रेस की कलह सामने आई है। भोपाल के नरेला क्षेत्र से विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह चौहान ने अपनी हार के लिए पार्टी के स्थानीय नेताओं को जिम्मेदार बताते हुए उनकी शिकायत अनुशासन समिति से की है। उन्होंने पूर्व महापौर सुनील सूद, जिला अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, मनोज शुक्ला, संजीव सक्सेना आदि के नाम अपने शिकायती पत्र में लिखे हैं।

अनुशासन समिति के अध्यक्ष हजारीलाल रघुवंशी को लिखे पत्र में चौहान ने इन नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी है। उन्होंने इन नेताओं के नाम के साथ बताया है कि चुनाव के दौरान किसने, क्या गड़बड़ी की। सूद और मिश्रा के लिए उन्होंने यह तक लिखा कि वे नरेला छोड़कर भोजपुर में सक्रिय रहे। उल्लेखनीय है कि भोजपुर से पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी चुनाव लड़े थे।

अजय सिंह के हैं नजदीकी: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के खास माने जाने वाले चौहान ने लिखा है कि सूद उनके विरोध में सक्रिय रहे और कहते रहे कि मेरी जमानत जब्त होगी। मिश्रा ने जिला अध्यक्ष होने के बावजूद कोई मदद नहीं की। केवल एक बैठक में शामिल हुए। शुक्ला यहां से मेरे साथ प्रत्याशी की दौड़ में थे। इन्होंने मेरे खिलाफ लोगों को पैसे भी बांटे। सक्सेना ने सजातीय होने के कारण भाजपा प्रत्याशी विश्वास सारंग की मदद की और कई निर्दलीयों को मेरे खिलाफ वहां से उतारा। इनके साथ ही चौहान ने तौकीर निजामी, तेजू जैन और रज्जाक खान के विरुद्ध भी शिकायत की है। उन्होंने शुक्ला, निजामी, जैन व खान को पार्टी से निकालने और अन्य वरिष्ठ नेताओं से जवाब तलब करने की मांग की है।

सूद कहा- इस संबंध में सूद का कहना है कि मैंने कोई सैबोटेज नहीं किया। हमेशा कांग्रेस के लिए काम किया है और आगे भी करता रहूंगा। मिश्रा का कहना है कि शिकायत के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उसे देखने के बाद ही कुछ कह पाऊंगा।