प्रदेश सरकार की किसानों के लिए बड़ी खबर ऋण खाते का होगा सत्यापन एवं प्रमाणीकरण

0
7

22 फरवरी से किसानों के ऋण जमा करेगी सरकार

राजू प्रजापति
9926536689
prajapatiraju71@gamil.com

भोपाल। पाँच फरवरी से 10 फरवरी तक ग्राम पंचायतों में प्राप्त आवेदन पत्रों को डाटा इन्ट्री सेन्टर पर इनपुट किया जायेगा। पोर्टल की जानकारी बैंकों को ऑन-लाईन एक्सेसेबल होगी। पोर्टल की ऋण खाते की जानकारी का सत्यापन, आधारकार्ड प्रमाणीकरण का कार्य किया जायेगा। राष्ट्रीयकृत बैंक खातों में अगर आधार अभिप्रमाणन नहीं हुआ हो तो उसका राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा यूआईडीएआई के पोर्टल से बैंक द्वारा अभिप्रमाणन कराया जायेगा। सहकारी बैंकों के ऋण खातों का आधार अभिप्रमाणन मेप-आईटी के द्वारा अधिकृत यूजर एजेंसी के माध्यम से कराया जाएगा। पोर्टल पर दावा प्रदर्शित होंगे, इससे सभी बैंक शाखाओं समितियों को ऐसे दावे की जानकारी प्राप्त हो सकेगी। साथ ही उनके द्वारा ऐसे प्रावधिक दावे पर आपत्ति की जा सकेगी। दस फरवरी से 17 फरवरी तक बैंक शाखा/समिति पोर्टल पर प्रावधिक दावा अगर कोई हो पर आपत्ति की तो दर्ज करने की व्यवस्था की जायेगी। आपत्ति प्राप्त नहीं होने वाले खाते को डीएलसीसी के समक्ष परीक्षण एवं अनुशंसा के लिए प्रस्तुत किया जायेगा। 18 फरवरी से 20 फरवरी तक डीएलसीसी की देखरेख में डाटा का सत्यापन तथा प्रमाणीकरण कर प्रत्येक आधार कार्ड पर लिए गए भिन्न-भिन्न ऋण प्रदायकर्ता संस्थाओं की प्रावधिक क्लेम सूची के दावे आपत्तियों का निराकरण किया जायेगा। डीएलसीसी से अनुशंसा सहित प्राप्त सूची में भुगतान के लिए प्रथम चरण में लघु एवं सीमांत कृषकों को भुगतान करते समय क्रमशरू सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, राष्ट्रीयकृत बैंक को प्राथमिकता दी जायेगी।
22 फरवरी से किसानों के ऋण खातों में जमा होगी राशि
तत्पश्चात 21 फरवरी को जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति के द्वारा भुगतान के लिए अनुमोदित सूचियों के आधार पर जिला कलेक्टर द्वारा संचालक, किसान कल्याण तथा कृषि विकास से आवंटन की मांग की जायेगी। गुलाबी आवेदन पत्रों पर संबंधित बैंक शाखा द्वारा किसान की दावा आपत्ति मान्य किए जाने पर पोर्टल पर विधिवत अपलोड किए जाने का ऑप्शन बैंक शाखा को दिया जायेगा। बाइस फरवरी से लगातार लाभान्वित किसान को उसके संबंधित ऋण खाते के माध्यम से राशि जिला स्तर से जमा कराई जावेगी। भुगतान के समय लाभान्वित किसान को रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर पर भुगतान किए जाने काडै पोर्टल के माध्यम से होगा।