खराब रोशनी के कारण चौथे दिन का स्टंप्स घोषित, ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 6/0

0
20

टीम इंडिया द्वारा रविवार को सिडनी टेस्ट के चौथे दिन फॉलोऑन खेलने को मजबूर ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी शुरू हो चुकी है। खराब रोशनी के कारण चायकाल के बाद का खेल शुरू नहीं हो सका।
ऑस्ट्रेलिया ने चौथे दिन स्टंप्स तक चार ओवर में बिना किसी नुकसान के 6 रन बना लिए हैं। उस्मान ख्वाजा 4* और मार्कस हैरिस 2* रन बनाकर क्रीज पर जमे हुए हैं। मेजबान टीम अभी भारत के स्कोर से 316 रन पीछे है जबकि उसके सभी विकेट शेष हैं।

इससे पहले कुलदीप यादव 5 विकेट की शानदार गेंदबाजी की बदौलत टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 300 रन पर समेटी। इसी के साथ विराट ब्रिगेड ने पहली पारी के आधार पर 322 रन की बढ़त बना ली है।

बता दें कि टीम इंडिया के स्कोर 622/7 पारी घोषित के जवाब में ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 104.5 ओवर में 300 रन पर ढेर हुई। टीम इंडिया के चाइनामैन कुलदीप यादव ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 31.5 ओवर के अपने स्पेल में 6 मेडन सहित 99 रन देकर पांच विकेट झटके।

मेजबान टीम ने चौथे दिन अपनी पारी 236/6 के स्कोर से आगे बढ़ाई। चौथे दिन का पहला सत्र बारिश की भेंट चढ़ा। लंच के बाद शुरू हुए मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने बिगाड़ी। उन्होंने पैट कमिंस (25) को क्लीन बोल्ड किया। कमिंस अपने कल के स्कोर में कोई इजाफा नहीं कर सके। इसके बाद पीटर हैंड्सकोंब (37) ने स्टार्क के साथ पारी संभालने की कोशिश की।

दोनों ने आठवें विकेट के लिए 21 रन जोड़े। मगर बुमराह की एक तेज गति की इनस्विंग ने हैंड्सकोंब के होश उड़ा दिए। भारतीय तेज गेंदबाज ने कंगारू बल्लेबाज को बोल्ड करके मेजबान टीम को आठवां झटका दिया।

अगले ही ओवर में कुलदीप यादव ने नाथन लियोन को फुलटॉस गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट करके टीम इंडिया को 9वीं सफलता दिलाई। लियोन खाता नहीं खोल सके। इसके बाद जोश हेजलवुड (21) और मिचेल स्टार्क (29*) ने आखिरी विकेट के लिए 42 रन की साझेदारी करते हुए टीम इंडिया का सिरदर्द बढ़ाया। दोनों ने जोरदार संघर्ष किया और ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 300 रन पहुंचाया।

टीम इंडिया की तरफ से कुलदीप के अलावा रवींद्र जडेजा और मोहम्मद शमी ने दो-दो विकेट लिए। जसप्रीत बुमराह को एक सफलता मिली।
तीसरे दिन का खेल
ऑस्ट्रेलिया ने दिन की शुरुआत बिना किसी नुकसान के 24 रनों के साथ की और मेजबान टीम ने पहला विकेट 72 के कुल योग पर उस्मान ख्वाजा (27) के रूप में खोया। पहला विकेट खोने के बाद ऑस्ट्रेलियाई पारी लड़खड़ा गई।

लंबे समय से क्रीज पर टिके सलामी बल्लेबाज मार्कस हैरिस (79) को रवींद्र जडेजा ने बोल्ड करके मेजबान टीम को दूसरा झटका दिया। हैरिस और मार्नस लाबुसचेंगे के बीच दूसरे विकेट के लिए 56 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी हुई। हैरिस ने अपनी पारी में 120 गेंदों का सामना कर आठ चौके मारे।

शॉन मार्श ज्यादा देर तक टिक नहीं सके, उन्हें भी आठ के निजी स्कोर पर जडेजा ने पवेलियन भेजा। ऑस्ट्रेलिया के कुल योग में अभी आठ रन ही जुड़े थे कि मोहम्मद शमी ने भारत को लाबुसचेंगे (38) के रूप में चौथी सफलता दिलाई। अजिंक्य रहाणे ने लाबुसचेंगे का कैच लिया।

इसके बाद, ट्रेविस हेड और पीटर हैंड्सकॉम्ब के बीच पांचवें विकेट के लिए 40 रनों की साझेदारी हुई। दोनों खिलाड़ियों की बल्लेबाजी को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा था कि ऑस्ट्रेलिया दिन की समाप्ति तक मजबूत स्थिति में रहेगा, लेकिन हेड को 20 के निजी स्कोर पर कुलदीप यादव आउट करने में कामयाब रहे।

हेड के बाद क्रीज पर आए कप्तान टिम पेन को भी यादव ने पांच के निजी स्कोर पर पवेलियन भेज दिया। इसके बाद, हैंड्सकॉम्ब एवं पैट कमिंस के बीच सातवें विकेट के लिए 38 रनों की साझेदारी हुई और दिन का खेल खत्म होने से 16.3 ओवर पहले खराब रोशनी के चलते खेल रोक दिया गया। बाद में बारिश के चलते दिन का खेल खत्म करने की घोषणा कर दी गई।

आखिरी सत्र में मेजबान टीम ने एक विकेट खोया। हैंड्सकॉम्ब 28 और कमिंस 25 रन बनाकर खेल रहे हैं। कमिंस अब तक अपनी पारी में छह चौके लगा चुके हैं जबकि हैंड्सकॉम्ब ने तीन चौके लगाए हैं।

भारत की ओर से यादव ने तीन महत्वूपर्ण विकेट लिए हैं जबकि जडेजा को दो और मोहम्मद शमी को एक विकेट मिला है। मेहमान टीम चार मैचों की इस सीरीज में 2-1 से आगे चल रही है और उसके पास इतिहास रचने का शानदार मौका है। भारत अगर मैच ड्रॉ भी करा लेता है तो वह सीरीज जीत लेगा जोकि ऑस्ट्रेलिया में 70 साल के बाद उसकी पहली सीरीज जीत होगी।