हिमानी ने गाड़े सफलता के झंडे

0
169

राजू प्रजापति
9926536689

भेल भोपाल। खेलकूद हो या जीवन का संघर्ष हर पल हर वक्त इंसान को कड़ी मेहनत लगन और कठिन परिश्रम के बाद ही वह अपने आयाम पर पहुंच पाता है ।सफलता उनके ही कदम चूमती है। जिनमें हौसला और बुलंदियों को छूने की हिम्मत और ताकत होती है। ऐसा ही एक खेल की दुनिया में चमकता सितारा है। हिमानी सिंह जो अमरोहा उत्तर प्रदेश की रहने वाली हैं जिनकी पढ़ाई बीकॉम हैं। उन्होंने खेल की शुरुआत 2007 से कि स्कूल में रहते हुए सबसे पहले खो -खो इसके वाद दौड़ से डिस्कस थ्रो आपको बता दें यह खेल एक प्रकार का ऐसा है। जिस में एक जगह खड़े होकर एक चक्र को दूरी तक फेका जाता है। जिसे हिंदी में (संज्ञा) कहते हैं राष्ट्रीय महाविद्यालय धनोरा अमरोहा उत्तर प्रदेश राज स्तरीय प्रतियोगिता मेरठ से रजत पदक राज स्तरीय प्रतियोगिता से 2 स्वर्णपदक इंटर जोन में भाग लिया जिसमें एक स्वर्ण पदक 2015 में भारतीय पुलिस प्रतियोगिता केरल में एक स्वर्ण पदक हिमानी सिंह के खाते में आया इसके बाद लगातार उनकी बुलंदी का सफर आसमान को छूने लगा ओपन नेशनल कोलकाता में कांस्य पदक 2016 में भारतीय पुलिस प्रतियोगिता हैदराबाद में एक स्वर्णपदक 2017 फेडरेशन कब पटियाला में कांस्य पदक इसके पश्चात इंटरनेशनल गेम (एेटीएफ) मैं भाग लिया उसके बाद अंतरराज्यीय विजयवाड़ा मैं वर्ष 2017 में स्वर्ण पदक पर अपना कब्जा किया इसके पश्चात हिमानी ने देश ही नहीं विदेशों में भी भारत के झंडे को ऊंचा किया यूएसए वर्ल्ड पुलिस गेम मैं एक एक स्वर्ण पदक एक कांस्य पदक हासिल कर देश का नाम रोशन किया भारतीय पुलिस हैदराबाद मैं वर्ष 2017 में भाग लिया इस प्रतियोगिता में एक स्वर्ण पदक एक रजत पदक हासिल किया हिमानी सिंह के लिए अमरोहा से निकल कर इतनी लंबी संघर्ष भरी यात्रा को सफल बनाने मैं उन्हें कई प्रकार की समस्याएं आई लेकिन उन्होंने इसकी परवाह ना करते हुए अपने लक्ष्य पर निशाना साधा और हिमानी कामयाब हुई वर्ष 2013 मैं हिमानी सिंह ने सीआरपीएफ नई दिल्ली से आरक्षक के पद से देश को अपनी सेवाएं देना प्रारंभ किया उसके बाद वर्ष 2014 में सी आई एस एफ मैं प्रधान आरक्षक के पद पर भर्ती हुई और 2018 में पदोन्नति होकर सहायक उप निरीक्षक के पद पर भोपाल मध्यप्रदेश में बीएचईएल कारखाने में वे अपनी सेवाएं दे रही हैं । यह उन लोगों के लिए मिसाल है जो बेटी के पैदा होने पर अफसोस करते हैं। ऐसी कई बेटियां हैं ।जो देश ही नहीं विदेश में भी अपने माता पिता और अपने देश का नाम रोशन कर रही हैं ।उन्हीं में से एक नाम हिमानी सिंह ने भी दर्ज किया है ।