राम मंदिर निर्माण पर ऑर्डिनेंस क़ानूनी प्रक्रिया के बाद ही संभव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

0
27

राम मंदिर निर्माण के लिए ऑर्डिनेंस पर पीएम मोदी का बयान, ‘क़ानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही इस पर विचार संभव.’

उन्होंने ये भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस के वकील इस मुद्दे पर अडंगा डाल रहे हैं, उन्हें ये काम बंद कर देना चाहिए.

उन्होंने इस मुद्दे पर ये भी कहा, “हम लोगों ने अपनी पार्टी के घोषणापत्र में कहा है कि इस मामले का हल संविधान के दायरे में निकाला जाना चाहिए.”

प्रधानमंत्री ने समाचार एजेंसी ANI की एडिटर स्मिता प्रकाश को दिए इंटरव्यू में तीन राज्यों में चुनावी नतीजे, आम चुनाव, नोटबंदी और राम मंदिर मुद्दे पर अपनी बात रखी है.

मोदी के इस इंटरव्यू के बाद राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने राम मंदिर पर मोदी के बयान को मंदिर निर्माण की दिश में सकारात्मक क़दम बताया है.
हालांकि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबले ने कहा है कि राम मंदिर के निर्माण का वादा इस कार्यकाल में सरकार पूर्ण करें ऐसी भारत की जनता की अपेक्षा है.

अन्य मुद्दों पर क्या बोले पीएम
राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के चुनावी नतीजों पर मोदी ने कहा, छत्तीसगढ़ में हार हुई लेकिन बाक़ी दोनों राज्यों में किसी को बहुमत हासिल नहीं हुआ. 15 साल की एंटी इनकम्बैंसी थी. हम लोग आपस में बात कर रहे हैं कि कहां कमी रह गई.

नोटबंदी के मुद्दे पर मोदी ने कहा, “ये कोई झटका नहीं था. हमने एक साल पहले से लोगों को आगाह करना शुरू कर दिया था कि अगर आपके पास काला धन है तो उसे जमा कराइए और पेनल्टी भरिए.”

जीएसटी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने कहा कि ये भारत सरकार और सभी राज्यों का सामूहिक फ़ैसला है, नई व्यवस्था है. पहले हर मुकाम पर टैक्स लगता था अब जीएसटी से चीज़ें आसान हुई हैं.

पीएम मोदी ने ये भी कहा कि जीएसटी से छोटे व्यापारियों को असुविधा हुई है, ये सरकार भी जानती है. जीएसटी को लगातार सरल बनाने की कोशिश हो रही है.

‘पाकिस्तान को सुधरने में वक्त लगेगा’

मोदी ने नोटबंदी के मुद्दे पर ये भी कहा कि देश में टैक्स देने वालों की संख्या बढ़ी है, ये कामयाबी है कि नहीं.

2019 के आम चुनाव में विपक्षी गठबंधन के बारे में मोदी ने कहा कि ये लोग केवल मोदी को गाली देने के नाम पर एकजुट हो रहे हैं जिनकी नीति कभी एकजुट नहीं रही है. उन्होंने ये भी कहा, “ये जनता बनाम गठबंधन होने वाला है. मोदी तो आम लोगों के प्यार और आशीर्वाद का प्रतीक है.”

शिवसेना जैसी सहयोगी दलों के साथ रिश्ते पर मोदी ने कहा कि बीजेपी अपने सहयोगी दलों के साथ आगे बढ़ना चाहती है और सहयोगी दलों को फलते फूलते देखना चाहती है.

रफ़ाल डील के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर मोदी ने कहा, “ये आरोप निजी नहीं हैं, सरकार पर हैं. इन आरोपों का जवाब मैं संसद में दे चुका हूं.”

गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए मोदी ने ये भी कहा, “सच्चाई ये है कि जिन्हें पहला परिवार माना जा रहा है, वे चार पीढ़ियों से देश चला रहे हैं, वे लोग ज़मानत पर हैं और वो भी वित्तीय अनियमितताओं के मामले में. ये बड़ी चीज़ है.”