नए साल में कड़ाके की ठंड से मिली राहत, भोपाल में रात और दिन का पारा चढ़ा

0
80

भोपाल. नए साल के दूसरे दिन शहरवासियों को दिन में ठंड से राहत मिली। हवा का रुख बदलने से दिन के तापमान में 2.8 डिग्री का इजाफा हुआ। लगातार 18 दिन पड़ी कड़ाके की ठंड और पाले का असर सब्जियों पर भी पड़ा। नए साल की पहली रात के न्यूनतम तापमान में 1.8 डिग्री की बढ़त रही।
वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक उदय सरवटे ने बताया कि मिल रहे ट्रेंड के मुताबिक दिन और रात के तापमान धीरे- धीरे इजाफा होगा। दिन का तापमान 28.4 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि सोमवार को यह 25.6 डिग्री दर्ज किया गया था। यह सामान्य से 3 डिग्री ज्यादा रहा। हवा का रुख बदलकर दक्षिणी हो गया है। इस वजह से तापमान बढ़ा। वहीं, रात का तापमान 8.8 डिग्री दर्ज किया गया। इसमें 1.8 डिग्री की बढ़ोतरी हुई। चार- पांच दिन मौसम ऐसा ही बना रह सकता है। कश्मीर से वेस्टर्न डिस्टरबेंस गुजरेगा तो 6 जनवरी से ठंड का एक दौर और आ सकता है। तापमान में गिरावट होने का अनुमान है।

ग्वालियर में बढ़ा दिन और रात का तापमान
हवा की रफ्तार धीमी होने, तेज धूप निकलने और मप्र व विदर्भ के ऊपर प्रतिचक्रवात बनने के कारण मंगलवार को दिन व रात का तापमान बढ़ गया। हालांकि कड़ाके की सर्दी से अभी भी राहत नहीं मिल सकी है। मंगलवार को सुबह 5 बजे से लेकर 9 बजे तक 6 से 7 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा।

फिर बदला समय: स्कूल सुबह 9.30 बजे से लगेंगे
सुबह शीतलहर की वजह से स्कूलों के समय में दूसरी बार बदलाव कर दिया गया है। एक सप्ताह पहले स्कूलों का समय 9 बजे किया गया था। मंगलवार को कलेक्टर कार्यालय से जारी किए गए आदेश के अनुसार अब सुबह 9.30 बजे से पहले कोई भी स्कूल संचालित नहीं किया जाएगा। यह आदेश शीत लहर में छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव के चलते जारी किया गया है।

पाले और ठंड से फूल मुरझा गए
नबीबाग स्थित फल अनुसंधान केंद्र के सीनियर साइंटिस्ट डॉ. एमएस परिहार ने बताया कि प्रदेश के तापमान लगातार कम रहने से पाला पड़ गया। इससे फूल मुरझा गए। इस वजह से फल बनने की प्रक्रिया थम गई। बैगन, पत्ता गोभी, फूल गोभी, हरा धनिया, हरी मिर्च, हरी मटर, आलू की फसल पर ज्यादा असर पड़ा। अगले हफ्ते से सब्जी की आवक और कम हो जाएगी।