राहुल ने कहा- जब तक देश के हर किसान का कर्ज माफ नहीं होता, हम मोदी को सोने नहीं देंगे

0
3

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दबाव डालकर देश के हर किसान का कर्ज माफ करवाएंगे। उन्होंने संसद भवन परिसर में मीडिया से बातचीत में कहा, ‘‘देखा आप लोगों ने? काम शुरू हो गया है। हमने 10 दिन में कर्ज माफ करने का वादा किया था। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ में हमारी नई सरकारों को किसानों का कर्ज माफ करने में छह घंटे का वक्त भी नहीं लगा, लेकिन मोदीजी के पास साढ़े चार साल थे। उन्होंने देश के किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया। जब तक देश के हर किसान का कर्ज माफ नहीं होता, हम मोदीजी को सोने नहीं देंगे। पूरा विपक्ष मिलकर उनसे किसानों का कर्ज माफ करवाकर रहेगा।’’
सज्जन कुमार पर जवाब टाल गए राहुल

राहुल गांधी से 1984 के दंगों में कांग्रेस के पूर्व सांसद सज्जन कुमार को उम्र कैद की सजा सुनाए जाने के दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के बारे में भी पूछा गया। इस पर राहुल ने कहा, ‘‘मैं इस मुद्दे पर अपना रुख पहले ही साफ कर चुका हूं। यह प्रेस कॉन्फ्रेंस देश के किसानों के बारे में है। यह इस बारे में है कि मोदीजी ने देश के किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया।’’ सज्जन कुमार ने मंगलवार को ही कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दिया है।

राहुल ने कहा- हम किसानों की आवाज प्रधानमंत्री तक पहुंचाएंगे

राहुल ने कहा- मोदीजी दो हिंदुस्तान बनाते हैं। एक हिंदुस्तान 20 लोगों का और एक गरीब लोगों का। हम गरीबों से कहना चाहेंगे कि यह पैसा आपका है। आप देश को खाना देता हो। हम आपकी आ‌वाज नरेंद्र मोदी तक पहुंचाएंगे। मोदीजी ने अमीरों का साढ़े तीन लाख करोड़ का कर्ज माफ किया है। अनिल अंबानी का उन्होंने 45 हजार करोड़ रुपए का कर्जा माफ किया। मोदीजी देश को बताइए कि आपने किसानों का कर्जा माफ क्यों नहीं किया?

मोदीजी ने नहीं किया तो हम कर्ज माफ करेंगे : राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अगर मोदीजी कर्जा माफ नहीं कराएंगे तो हम कराएंगे। इसका तो सवाल ही नहीं उठता कि हम सरकार में आने के बाद लोगों का पैसा नहीं माफ करेंगे। हिंदुस्तान की जनता से चोरी की जा रही है। देश के दुकानदारों से चोरी की गई है। नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा स्कैम था। इसका मकसद था गरीबों से पैसा छीनो और अपने मित्रों को पैसा बांटो।

दो राज्यों में किसानों का कर्ज माफ हुआ

मध्यप्रदेश : कमलनाथ सोमवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए। काम संभालते ही कमलनाथ ने 34 लाख किसानों का 2 लाख रुपए तक का कर्ज माफ करने की घोषणा कर दी। कुल 38 हजार करोड़ रु. का कर्ज माफ होगा।
छत्तीसगढ़ : भूपेश बघेल ने भी सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसके बाद उन्होंने राज्य के 16.65 लाख किसानों का 6100 करोड़ रु. का कर्ज माफ करने का फैसला लिया।
राजस्थान : राज्य में 47 लाख किसानों पर 94 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है। इसमें 54 हजार करोड़ कॉमर्शियल बैंकों का है। 18 हजार करोड़ सहकारी बैंकों का है।