बीएचईएल ने मनाया गुणता मास

0
73

राजू प्रजापति
बीएचईएल भोपाल में मनाये जा रहे गुणता मास के अंतर्गत आज चिन्मय मिशन के तत्वाधान में “मेनेजिंग द मेनेजर” विषय पर स्वामी स्वरुपानंद जी (प्रमुख चिन्मय मिशन ग्लोबल) का एक व्याख्यान आयोजित किया गया। यह कार्यक्रम भेल के आईएफएक्स सम्मेलन हाल में सम्पन्न हुआ जिसमे बीएचईएल का वरिष्ठ प्रबंधन सम्मिलित हुआ। इस कार्यक्रम में भेल भोपाल के कार्यपालक निदेशक, महाप्रबंधक गण, डीआरओ एवं विभागाध्यक्षो ने भाग लिया। साथ ही, विभिन्न उद्योगों के वरिष्ठ प्रबंधन भी विशिष्ट अतिथि के रुप मे इस कार्यक्रम मे सम्मिलित होकर लाभान्वित हुए।

भेल के कार्यपालक निदेशक श्री डी.के. ठाकुर ने अपने उद्बबोधन में आज के औद्योगिक परिवेष में “मेनेजिंग द मैनेजर” की महत्ता पर बल दिया तथा इसकी दैनिक जीवन मे सार्थकता को इगिंत किया।

स्वामी स्वरुपानंद जी ने अपने उद्बबोधन में धार्मिक ग्रथों गीता, वेद आदि के हमारे दैनिक जीवन में प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। उन्होनें मानव मस्तिष्क को मनुष्य का एकमात्र सर्वोच्च प्रबंधक की संज्ञा दी। स्वामी जी ने मनुष्य को अपनी आंतरिक क्षमता तथा वास्तविक योग्यता को पहचानकर अपनी कार्यप्रणाली को द्विगुणित करने पर बल दिया। उन्होनें गीता एवं वेदों के विभिन्न उदाहरणों द्वारा बताया कि मानव जीवन की कार्यशैली मे कैसे सुधार लाया जा सकता है। स्वामीजी ने अपने उद्ब्बोधन द्वारा प्रेरित किया कि धर्म ग्रथों को आत्मसात कर अपनी कार्यशैली में सकारात्मक सुधार लाते हुए प्रबंधको द्वारा प्रतिष्ठान तथा समाज को लाभान्वित करने की असीम सम्भावनाएं बनती हैं। श्री एम.एस.किनरा, महाप्रबंधक (गुणता) ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी गणमान्य अतिथियों तथा प्रबंधकों का स्वागत किया।