जनसंपर्क के दौरान भाजपा कार्यकर्ता और ग्रामीणों में लाठियां चलीं, 4 के सिर फूटे

0
15

शाजापुर . जनसंपर्क के दौरान शनिवार को शहर से करीब 20 किमी दूर ग्राम दुपाड़ा में हंगामा हो गया। वोट मांगने पहुंचे भाजपा प्रत्याशी अरुण भीमावद के काफिले को ग्रामीणों ने बस स्टैंड पर रोका। काले झंडे दिखाते हुए विधायक के खिलाफ नारेबाजी की। कार्यकर्ता व ग्रामीणों के बीच डंडे चले। मारपीट के बीच विधायक भीमावद के ड्राइवर कार को भीड़ से निकालकर ले जाने लगे।
तो गुस्साए ग्रामीणों ने भीमावद की कार पर डंडे व पत्थरों से हमला कर दिया। इससे गाड़ी के कांच भी फूट गए। एक घंटे बाद फोर्स की मौजूदगी में भीमावद ने रात 8 बजे दुपाड़ा में जनसंपर्क कर ग्रामीणों से समर्थन मांगा। भीमावद ने उनके साथ हुई घटना के जिम्मेदार भाजपा के बागी होकर निर्दलीय प्रत्याशी बने जे.पी. मंडलोई और कांग्रेस प्रत्याशी हुकुम सिंह कराड़ा पर सयुंक्त रूप से साजिश कर हमला कराने का आरोप लगाया है। जबकि कराड़ा और मंडलोई ने आरोप को निराधार बताया है।

घटना शाम करीब 6.30 बजे की है। विधायक जनसंपर्क करते हुए अपने काफिले के साथ दुपाड़ा पहुंचे। यहां बस स्टैंड के पास पहले से खड़े कुछ ग्रामीणों ने विधायक के काफिले के सामने काले झंडे लहराना शुरू करा दिया। नारेबाजी करते हुए ग्रामीणों ने विधायक पर कई आरोप लगाए। एक युवक ने कहा मैं भाजपा का कार्यकर्ता हूं। पिछली बार भीमावद की जीत के बाद उनसे मिलने भी गया।

लेकिन इसके बाद विधायक ने कोई काम नहीं किया। इस बार वे गांव में नहीं आ सकते। कार में बैठे कुछ कार्यकर्ता सामने आए और आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन बहस के दौरान अचानक झड़प हो गई। ग्रामीण व कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे पर हमला कर दिया। करीब 5-7 मिनट तक डंडे और पत्थर चलने से अफरा-तफरी मच गई। इस दौरान विधायक के ड्राइवर ने तेज रफ्तार से गाड़ी चलाते हुए विधायक को भीड़ से बाहर निकाल लिया। भागती कार पर कुछ ग्रामीणों ने पत्थर व लट्ठ मारे। इससे विधायक की गाड़ी के कांच भी टूट गए।

5 से 7 मिनट तक टॉमी और पत्थर से हमला : करीब 5-7 मिनट तक चले डंडे और पत्थर में चार लोगों को चोट आई है। घायल हुए ग्रामीणों में नंदकिशोर सोलंकी, गोपाल बरेठा, रामबाबू पाटीदार, गोपाल प्रजापत के सिर में चोट आई। इन्हें जिला अस्पताल में लाया गया है। घायल ग्रामीणों का आरोप है कि हम विधायक से गांव में विकास कार्य नहीं कराने पर सवाल पूछ रहे थे। इससे नाराज होकर उनके ड्राइवर व समर्थकोंं ने टामी और पत्थरों से हमला कर दिया।

साजिश थी, रिपोर्ट दर्ज कराऊंगा : ^मुझे मिल रहे समर्थन को देख निर्दलीय प्रत्याशी जे.पी. मंडलोई और कांग्रेस प्रत्याशी हुकुम सिंह कराड़ा बौखला गए। इसी को लेकर दोनों ने संयुक्त रूप से साजिश करते हुए मेरे ऊपर प्राणघातक हमला कराया है। उन्हें पहले से मालूम थी कि मैं दुपाड़ा आने वाला हूं। इसी के चलते पहले से उन्होंने यहां कुछ शरारती लोगों को खड़ा कर रखा था। रिपोर्ट भी दर्ज कराऊंगा। – अरुण भीमावद, विधायक व भाजपा प्रत्याशी शााजापुर

^मुझे भाजपा और भाजपा के प्रत्याशी से कोई लेना-देना ही नहीं है। मेरे ऊपर आरोप लगाने वाले भाजपा प्रत्याशी का रिकाॅर्ड देखा तो पता चल जाएगा ऐसी प्रवृत्ति वाला कौन है। एक बार पहले भी भाजपा के एक प्रत्याशी ने मुझ पर मारपीट का झूठा आरोप लगाया था। इसका जवाब जनता ने 16 हजार वोट से हराकर उसे दे दिया था। सारे आरोप निराधार और बेबुनियाद हैं। – हुकुम सिंह कराड़ा, कांग्रेस प्रत्याशी शाजापुर