कमाई के मामले में नेताओं पर भारी उनकी पत्नियां

0
49

 

मध्यप्रदेश चुनाव में उतरे दिग्गजों की कमाई की बात हो तो बड़े नेताओं की पत्नियां उन पर भारी पड़ती नजर आ रही हैं। चुनाव आयोग में जमा किए गए शपथ पत्र बताते हैं कि भाजपा हो या कांग्रेस, दोनों ही पार्टियों में ऐसी नेता-पत्नियों की कमी नहीं जिनकी आय अपने पतियों से कहीं ज्यादा ठहरती है।
पत्नी से पिछड़ने वाले इन नेताओं में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हैं, जिनकी पत्नी साधना सिंह की वार्षिक आय उनसे दोगुनी यानी 37 लाख के करीब है। शिवराज की सालाना आय करीब 19.7 लाख रही। पिछले चुनाव में शिवराज सिंह ने बताया था कि टैक्स लगने के बाद उनकी वार्षिक आय 17.12 लाख और पत्नी साधना सिंह की 20.5 लाख थी।

मंत्री भूपेन्द्र सिंह की पत्नी सरोज सिंह की सालाना आय 4.5 करोड़ जबकि उनकी खुद की वार्षिक आय 97 लाख है। इसी तरह सरकार में मंत्री राजेंद्र शुक्ला के चुनावी शपथ पत्र की मानें तो उनकी वार्षिक आय 6.6 लाख और पत्नी सुमिता शुक्ला की वार्षिक आय 26.66 लाख रुपये है। 2013 चुनाव के बाद कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए मंत्री संजय पाठक की वार्षिक आय 85 लाख रही लेकिन उनकी पत्नी निधि पाठक ने साल के दौरान 1.4 करोड़ रुपये कमाए।
कुछ ऐसी ही स्थिति कांग्रेस उम्मीदवारों के साथ भी है। चुनाव आयोग को दिए शपथ पत्र के अनुसार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी की पत्नी डॉ. सुपर्णा शर्मा की वार्षिक आय 22.61 लाख है जबकि उनकी खुद की आय 19.99 लाख रुपये वार्षिक है। कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी की आय 15 लाख रुपये वार्षिक जबकि उनकी पत्नी रेणुका पटवारी की आय उनसे कुछ ज्यादा यानी 17.5 लाख रुपये है।