होशंगाबाद – बनखेडी ब्‍लाक के ग्राम बाचावानी में दूषित पानी पीने से 4 की मौत, 100 से अधिक बीमार, गंभीर बीमार होशंगाबाद हुए रिफर

0
17

नवलोक समाचार होशंगाबाद।
जिले की बनखेडी तहसील के ग्राम बाचावानी में आज सुवह दूषित पानी पीने से 4 लोगों की मौ हो गई और करीब 100 लोग उल्‍टी दस्‍त के कारण बीमार हो गए है। जिन्‍ाका उपाचार प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र बनखेडी सहित पपरिया और जिला अस्‍पताल होशंगाबाद में किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार डाक्‍टरों ने सभी लोगों की जांच के बाद दूषित पानी पीने से ही मौते होना और सैकडो लोगों के बीमार होने की बजह बताया है।
पिपरिया से बनखेडी के बीच सडक किनारे बसे ग्राम बाचावानी में तडके सुबह से ही लोगों को उल्‍टी दस्‍त कि शिकायत होने लगी थी। जिसके चलते शनिवार की रात से ही लोग बीमार होने लगे थे, प्राथमिक उपाचार न मिलने से तबीयत बिगडने लगी जिससे रविवार की सुबह ही 4 लोगों की मौत्‍ा हो गई है। इस बात की पुष्टि पिपरिया एसडीएम राजेश शाही ने कि है।

बनखेडी ब्‍लाक के ग्राम बाचावानी में दूषित पानी पीने से 4 की मौत
बनखेडी ब्‍लाक के ग्राम बाचावानी में दूषित पानी पीने से 4 की मौत
वही रविवार की सुबह एक सैकडा लोगों के बीमार होने की खबर लगते ही होशंगाबाद से सीएमएचओं ए एल मरावी डाक्‍टरों की टीम के साथ बनखेडी पहुंचे और बीमार लोगों का उपचार बनखेडी और पिपरिया के अस्‍पताल में शु्रू किया है।
उधर बनखेडी के बीएमओं जगबंधन परिहार ने बताया है कि गांव में फूटी पाइप लाइन से घ्‍ारों में गए पानी का उपयोग लोगों ने किया जिससे उल्‍टी दस्‍त की समस्‍या बन गई, वही पिपरिया के बीएमओ ए के अग्रवाल ने बताया कि जिन लोगों की मौत्‍ा हुई है। उन्‍होनें दूषित पानी का उपयोग ही किया था, घटाना की जानकारी लगते ही जिले के प्राशनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे।
उपचार के लिए मरीजो को बनखेडी और पिपरिया के अस्‍पताल में भर्ती किया गया
उपचार के लिए मरीजो को बनखेडी और पिपरिया के अस्‍पताल में भर्ती किया गया

इनकी हुई मत्‍यु।

बनखेडी के ग्राम बाचावानी में रहने वाले लोगों ने उल्‍टी दस्‍त से जान गवाई है। उनमें सन्‍नो बाई पत्नि दुर्गा ठाकुर उम्र 35 वर्ष, कन्‍छेदी पिता कोमल अहिरवार उम्र 50 वर्ष,उमेदिया बाई उम्र 65 वर्ष , एंव सुंदरिया बाई पत्नि छोटे लाल 70 वर्ष की मौत् हो गई है। वही 10 गंभीर मरीजों को होशंगाबाद और भोपाल रिफर किया गया है।
एसडीएम राजेश साही ने बताया कि मरने वालो के परिजनों को फिलहाल 25 हजार रूपए की आर्थिक सहायता दी जा रही है।