न‍रसिंहपुर में कैराना जैसे हालात, दबंगों के डर से दलितों का गांव से हो रहा पलायन,

0
98

kapuri ke harijan--01
पंकज गुप्‍ता नरसिंहपुर।
सरकार दलितों के उत्थान की भले ही लाख बातें करे पर जमीनी हकीकत आज भी कुछ और है नरसिंहपुर में आज भी दबंगो द्वारा दलितो को प्रताड़ित किया जाता है जिसके चलते हरिजन परिवार ख़ौफ़ के साये में जीने को मजबूर है और परिवार के परिवार पलायन करने लगे है। मध्‍यप्रदेश में नरसिंहपुर जिले में उत्‍तर प्रदेश के कैराना जैसे हालात बन रहे है।

जिला मुख्यालय से महज 5 किलोमीटर दूर स्थित कपूरी गांव का मामला सामने आया है जिसमें दलित परिवारो के घर की अब खाली हो गए है दलित हरिजन लोग दबंगो के आतंक से भयभीत होकर पलायन कर चुके है , जाट बाहुल्य आबादी वाले इस गांव में आज भी दलितों को हर बात पर नीचा दिखया जाता है जातपात के भेदभाव की जंजीरे आज भी इस गांव को जकड़े हुए है। आये दिन होने वाले अत्याचार से गांव से 5 परिवार पलायन कर चुके है। अब एक दो परिवार ही बचे है , जो इतने डरे और सहमे है की शिकायत करने की हिम्मत नही जुटा पाते और जुल्म सहने मजबूर है । …….

कपूरी के गोबर्धन और उसकी मां ने बताया कि दबंगो के डर से अब तक चेतन चौधरी ,भोजराज चौधरी ,सेवाराम हरिजन ,अजय चौधरी ओर परमलाल चौधरी का परिवार कपुरी से पलायन कर चुका है। कोई गाडरवारा,सुजवारा ,बसानपणी तो कोई पिपरिया मे अपने रिश्तेदारों कहा आश्रय लिए हुए है। ऐसे ही एक परिवार की जानकारी हमरे संवाददाता को लगी तो इनके हाल जानने वह उन तक पहुंचे, पीड़ित परिवार के मुखिया परमलाल ने जो आपबीती सुनाई वो बेहद हैरान कर देने वाली थी । कपूरी के ही परामलाल ने बताया किस तरह दबंग लोग नीची जाति के लोगो पर जुल्म कर रहे है । उन्हें गांव छोड़ने पर मजबूर कर रहे है और इसी वजह से वो गांव छोड़ दुसरो के घर में आश्रय लिए हुए है, गांव में उन्हें अपनी जान का खतरा जो है।
– क्या बच्चे क्या महिलाये सब इतने ख़ौफ़ज़दा है की कोई अब गांव वपिस नही जाना चाहता लड़कियों की पढ़ाई तक छुटने लगी थी, दबंगो को ये मंजूर नही थाख्, की हरिजनों की बेटियां पढ़लिख कर बरबरी करे आते जाते उनपर फब्तियां कसी जाती है आतंक से साये से निकलकर आये ये परिवार अब गांव नही जाना चाहते हालांकि गांव के सुने पड़े घर आँगन और ठन्डे पड़े चूल्हे अब उनकी राह तक रहे है । पीडितो परिवार की आरती चौधरी ओर किरण चौधरी का कहना है की पुलिस से शिकायत के बाद भी कोई कार्यवाही नही हो रही है…kapuri - harijan -02
वही जिले में दलितों को लेकर अब राजनीती भी शुरू हो गई है बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश महासचिव नारायण पटेल प्रदेश सरकार को कोसते हुए दलितों के आंसू पोछने की बात कह रहे है …
ऐसा भी नही की मामला पुलिस के संज्ञान में नही है, लेकिन मामले को लेकर पुलिस गंभीर भी नजर नही आ रही हैं। हालकि अब जब बात मीडिया तक पहुंच गई, तो पुलिस दबंगो पर कार्यवाही एव पलायन कर चुके परिवारों को सुरक्षा के साथ गांव वापसी कराने की बात कह रही है ।

पुलिस लाख दावे करे पार् पीड़ितो मे चहरे पार् खोफ की लकींरे साफ देखी जा सकती है यदि समय रहते प्रशासन शिकायतो पार् कार्यवाही करता तो शायद पलायन की नौबत ही नही अाती ऐसे ही सूरतेहाल कैराना के थे जो हाल वर्तमान मे कपूरी के है यदि समय रहते प्रशासन ने ठोष कदम न उठाए तो दलितो पार् दबंगो के जुल्म दिनोदिन बढ़ते जाएंगे और पलायन का दौर भी ऐसे हाल मेये कहना लाजमी होगा की देश का अगला कैराना नरसिंहपुर का कपूरी होगा।

इनका कहना है ।

कपूरी गांव का मामला पुलिस की जानकारी में है , पुलिस द्वारा दलित हरिजन परिवारों को पुन वापिस उनके गांव में सुरक्षा के साथ भेजा जाएगा। दोषियों पर कार्रवाई होगी।
मुकेश श्रीवास्तव -पुलिस अधीक्षक नरसिंहपुर
gram kapuri--03