इन्दौर को नम्बर वन रहने की आदत हो गयी है -सीएम शिवराज

0
54

टीकाकरण के क्षेत्र में भी नम्बर वन रहने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी बधाई

नवलोक समाचार, इंदौर। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि इन्दौर को नम्बर वन रहने की आदत हो गयी है। स्वच्छता में लगातार चार बार अव्वल रहने के बाद अब इंदौर ने टीकाकरण के क्षेत्र में भी देश में अव्वल स्थान प्राप्त किया है। इन्दौर जिले में हुये कार्यों की सराहना करते हुये मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन्दौर के नागरिकों सहित अभियान को सफल बनाने वाले सभी लोगों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इन्दौर सहित पूरे प्रदेश में इस अभियान को एकजुटता और जनभागीदारी से सफल बनाया गया है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान आज भोपाल से वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यों एवं अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर भोपाल से इन्दौर जिले के प्रभारी तथा जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट भी शामिल हुये। इन्दौर के एनआईसी कक्ष से इस बैठक में सांसद श्री शंकर लालवानी, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, डीआईजी श्री मनीष कपूरिया, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल, विधायक श्री रमेश मेंदोला, श्री आकाश विजयवर्गीय, तथा श्री महेन्द्र हार्डिया, पूर्व विधायक श्री सुदर्शन गुप्ता, श्री मनोज पटेल तथा श्री राजेश सोनकर, श्री गौरव रणदिवे तथा श्री मधु वर्मा शामिल हुये।
मंत्री श्री सिलावट ने इस अवसर पर कहा कि इंदौर में यह अभियान मुख्यमंत्री श्री चौहान के निर्देशन में सफलतापूर्वक आयोजित किया गया। इसमें समाज के सभी वर्गों की सक्रिय सहभागीता रही। सांसद श्री लालवानी ने कहा कि इस अभियान के लिये सूक्ष्म रणनीति बनाकर कार्य किया गया। सबका सहयोग मिला। इस अभियान की सफलता को आगे भी कायम रखा जायेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री जी से आग्रह किया की इंदौर को प्रतिदिन एक लाख डोज मिलना चाहिये।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि अथक मेहनत कर सम्पूर्ण क्षमता के अनुसार कार्य कर महा-अभियान को सफल बनाया गया। तैयारियों के लिये मात्र तीन दिन का वक्त था। जहाँ चाह है वहाँ राह है। यह अभियान जनभागीदारी का बेहतर माडल रहा। समाज के हर वर्ग की सक्रिय भागीदारी रही। सबको साथ में लेकर उत्सवी माहौल बनाया गया। चहुँओर उत्सवी माहौल था। सभी भ्रमजाल ध्वस्त हो गये। स्वप्रेरणा से आगे आकर लोगों ने टीकाकरण करवाया। भावना का बेहतर उदाहरण रहा है यह अभियान। यह जिंदगी का टीका है। कोरोना महामारी की तीसरी लहर से लोगों की जीवन की रक्षा होगी। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिये स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की जाये। अपने- अपने क्षेत्रों को शत-प्रतिशत टीकाकरण वाला क्षेत्र बनाने की प्रतिस्पर्धा हो। टीकाकरण के लिये नवाचार हो। क्षेत्रवार रणनीति बनाकर उसका प्रभावी क्रियान्वयन किया जाये।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस अभियान से लोगों के प्राणों की रक्षा की गयी है। सभी जिलों में बेहतर कार्य हुआ है। उन्होंने सभी के परिश्रम का अभिनन्दन किया। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि तीसरी लहर के पहले ही सबका टीकाकरण हो जाये । मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लोगों को प्रेरित करें कि वे कोविड अनुकूल व्यवहार को अपनाये। उन्होने कहा कि प्रदेश में शत-प्रतिशत टीकाकरण करने तक रुके नहीं। सभी का टीकाकरण हो । सभी नागरिकों को कोरोना से सुरक्षा का कवच मिले। टीकाकरण का अभियान निरन्तर जारी रहेगा। अभियान का आरंभ अच्छा है अंत भी अंजाम तक पहुँचाये। लोगों को टीकाकरण के लिये लगातार प्रेरित करते रहे। टीकाकरण के लिये सुविधाजनक स्थानों पर केन्द्र बनाये।