2 हत्याओं के खुलासे के बाद 21 वर्षीय युवक गिरफ्तार

0
32
21 वर्षीय युवक राहुल दुबे ने किए दो कत्ल, एक 2019 का प्रकरण दूसरा 24 जनवरी 2021 का प्रकरण , दोनों ही मामलों में आरोपी ने अपने साथियों को शराब पिलाकर उन्हें मौत के घाट उतार दिया।
नवलोक समाचार सोहागपुर।
यहां 24 जनवरी से गुमशुदा युवक के अंधे कत्ल के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, दरअसल ग्राम चीचली का 35 वर्षीय युवक गणेश धानक 24 जनवरी को घर से गैस की टंकी लेने मोटरसाइकिल से निकला था, लेकिन देर रात तक घर नही लौटा, जिसके बाद परिजनो ने उसकी गुमशुगदी की रिर्पोट सोहागपुर थाने में दर्ज कराई। जिसके बाद पुलिस को 30 जनवरी को सूचना मिली कि ग्राम छेडक़ा से तीन किलोमीटर पहले जंगल में अज्ञात युवक का शव पड़ा हुआ है, जिसके बाद दल बल के साथ सोहागपुर थाना प्रभारी विक्रम रजक ने मौके पर पहुंच कर विवेचना शुरू कि जिस पर मृतक की शिनाख्त गणेश धानक ग्राम चीचली निवासी के रूप में हुई।
शव मिलने के बाद से ही पुलिस ने प्रकरण की जांच शुरू कि जिस पर मृतक की पत्नि के नंबर पर आखिरी काल राहुल दुबे पिता रिऋी दुबे के नंबर से किया जाना पाया। घटना के बाद जब पुलिस ने राहुल की खोजबीन की तो वह सोहागपुर से फरार हो चुका था। जिसके बाद लगातार सर्चिग के बाद आरोपी युवक को ग्राम जर्रन के पंचवटी इलाके से गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद आरोपी युवक ने घटना के बारे में बताया कि वह मृतक गणेश धानक के साथ बैठकर शराब पी रहा था तभी उससे झगड़ा हो गया और उसने गमछे से गणेश धानक का गला घोट दिया, पहचान छुपाने की नियत से आरोपी ने मृतक के जेब मेंम रखे कागजात और पैसे भी निकाल लिए थे ,और गैस की टंकी ओर गमछे को जंगल में ही एक पुलिया में छुपा दिया था। घटना के बाद मोटर साइकिल से रातापानी अभ्यारण्य के जंगल की तरफ पहुंच कर मोटर साइकिल को भी रेल्वे ट्रेक के पास छुपा कर पैदल ही सोहागपुर आ गया था। पुलिस ने आरोपी राहुल दुबे की निशानदेही पर मृतक गणेश धानक की मोटर साइकिल बरखेड़ा के जंगल से बरामद की है साथ ही गैस की टंकी, गमछा आदि घटना स्थल के पास से बरामद कर लिया है।
             दो मर्डर का आरोपी राहुल दुबे
सोहागपुर पुलिस ने जब आरोपी से पूछताछ की तो उसने इस हत्या के साथ साथ वर्ष नबंवर 2019 में भी रेलवे पुल के पास के कुए में सोनू उर्फ ताराचंद नागवंशी पिता मोतीलाल नागवंशी उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम लांघा बम्होरी की हत्या करना भी कबूल किया है। जिसमें आरोपी युवक ने बताया कि सोनू उसकी तथाकथित प्रेमिका को परेशान करता था, जो उसे नागवार गुजरा, जिसके बाद आरोपी ने योजनाबद्ध तरीके से सोनू को शराब पिलाई और उसे लेकर रेल्वे पुल के पास बने कुए के पास लेेकर गया और कुआ की मुंडेर पर बैठकर बात करने लगे जब सोनू उर्फ ताराचंद ज्यादा नशे मे हो गया तो मौका पाकर आरोपी राहुल ने उसे कुए में गिरा दिया था। जिसके बाद उसका शव पुलिस को मिला था, तब से ही उक्त मामले में हत्यारे का सुराग नही मिला था। दोनो ही मामलो के सामने आने के बाद पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को जेल भेज दिया है। प्रकरण को सुलझाने में थाना प्रभारी विक्र म रजक के साथ साथ सब इंस्पेक्टर धमेंद्र वर्मा, सब इंस्पेक्टर राधेश्याम पवार, सब इंस्पेक्टर वर्षा धाकड़, प्रधान आरक्षक वीरेंद्र शुक्ला, मनोज कुमार, आरक्षक मोहसीन खान, अंकित धनगर, अनिल पाल, रोहित ठाकुर, राहुल पवार की मुख्य भूमिका रही।