शिवराज सिंह कलाकार है ,मुंबई के कलाकारों को भी पीछे छोड़ देगें – कमलनाथ

0
78

सुरखी में बोले कमलनाथ – शिवराज जी आप इतनी अच्छी कलाकारी कर लेते हो कि आपको तो मुंबई जाना चाहिए , वहाँ जाकर आप फिल्मी कलाकारों को भी कलाकारी में पीछे छोड़ देंगे और कलाकारी में मध्य प्रदेश का नाम रोशन करेंगे।
कितना शर्मनाक है कि सोयाबीन की बर्बाद फसलों का आज तक प्रदेश भर में किसानों को मुआवजा नहीं मिला और शिवराज जी हर सभा के मंच से किसानों के खातों में हजारों करोड़ डालने का सफ़ेद झूठ परोस रहे है।
नवलोक समाचार।  जिले की सुरखी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती पारुल साहू के समर्थन में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कभी खुद को मामा कहते हैं ,कभी खुद को किसान का बेटा बताते हैं ,कभी मंच पर घुटनों के बल बैठ जाते हैं ,वह इतनी अच्छी एक्टिंग कर लेते हैं कि उन्हें तो मुंबई जाना चाहिए , वहाँ एक्टिंग में वो शाहरुख और सलमान को भी पीछे छोड़ देंगे , एक्टिंग में वह मध्यप्रदेश का नाम जरूर रोशन करेंगे।
इस अवसर पर श्री नाथ ने कहा कि कितना शर्मनाक है कि प्रदेश में आज तक सोयाबीन की खराब फ़सलो का किसानों को एक रुपए का भी मुआवजा नहीं मिला है और हमारे मुख्यमंत्री

सुरखी में आमसभा में क्षेत्र के मतदाता

शिवराज सिंह प्रतिदिन हर सभा के मंच से झूठ परोसते हैं कि हमने किसानों के खातों में हज़ारों करोड़ों रुपए डाल दिये है , यह इनकी सच्चाई है , इतना झूठ बोलते इन्हें शर्म भी नहीं आती।
शिवराज जी को कुर्सी की व सरकार की बहुत तड़प है।जनता ने उन्हें 15 वर्ष दिए थे।15 वर्ष बाद जनता ने प्रदेश में हमारी सरकार बनाई।हमारी सरकार वोट से बनी लेकिन उन्होंने बीच में ही नोट से अपनी सरकार बना ली।शिवराज जी के 15 वर्ष सभी ने देखे हैं कि किस प्रकार प्रदेश महिलाओं पर अत्याचार ,किसानों की आत्महत्या ,बेरोजगारी ,भ्रष्टाचार में नंबर वन था।जितने उद्योग लगते नहीं थे उतने बंद हो जाते थे ,प्रदेश में निवेश नहीं आता था क्योंकि विश्वास का माहौल नहीं था।प्रदेश की जनता शिवराज से पूछती थी “ किसान बिना दाम के -नौजवान बिना काम के तो शिवराज जी आप किस काम के “
इनके समय “ स्कूलों में शिक्षक नहीं होते थे ,अस्पताल में डॉक्टर नहीं होते थे ,डॉक्टर के पास दवाई नहीं होती थी ,टंकी में पाइप नहीं होता था ,खंबे में तार नहीं होती थी ,तार मैं बिजली नहीं होती थी “
मैंने प्रदेश की इसी तस्वीर को बदलने का काम शुरू किया।मैंने 27 लाख किसानों का  कर्जा माफ किया ,बाकी किसानों की कर्ज माफी भी हम 1 जून से प्रारंभ करने जा रहे थे।मैंने माफिया और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान

सागर जिले की सुरखी विधानसभा में कमलनाथ ने किया जनता को संबोधित

चलाया ,मैंने गौशाला बनवाई ,मैंने पिछड़े वर्ग को 27% आरक्षण प्रदान किया ,मैंने ₹100 में 100 यूनिट बिजली प्रदान की , क्या यह मेरा गुनाह ,गलती , पाप था ?
आज यह किसान विरोधी  कानून ले आए हैं।मंडियों का निजीकरण करने जा रहे हैं ,समर्थन मूल्य को गायब करने जा रहे हैं ,किसान को बर्बाद करने जा रहे हैं।
श्री नाथ ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश की राजनीति को कलंकित कर दिया , प्रदेश में सौदेबाज़ी की,बिकाऊ राजनीति की शुरुआत की।पूरे विश्व में भारत के लोकतंत्र पर गर्व होता था लेकिन इसी लोकतंत्र और संविधान के साथ खिलवाड़ करने का काम भाजपा ने किया है।
इस अवसर पर सागर कुशवाहा समाज के संभागीय अध्यक्ष मोती सिंह कुशवाहा के नेतृत्व में 1000 लोगों ने कांग्रेस में प्रवेश लिया।वही सैकड़ों लोगों ने भाजपा छोड़कर कांग्रेस में प्रवेश लिया।जिनका कमलनाथ जी ने मंच पर पुष्पहारो से स्वागत किया।

सभा को सुरखी क्षेत्र से कांग्रेस की प्रत्याशी श्रीमती पारुल साहू , पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भैया ,पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया ,विधायक राहुल लोधी ,संजय शर्मा ,सिद्धार्थ कुशवाहा ,तरवर लोधी आदि ने संबोधित किया।
मंच पर राजमणि पटेल,सुरेंद्र चौधरी ,भूपेन्द्र गुप्ता ,आनंद अहिरवार , नरेश जैन , देवेंद्र पटेल ,बुंदेल सिंह बुंदेला , कृष्णा सिंह , विक्रम सिंह राजपूत ,दलित पटेल ,प्रह्लाद पटेल आदि उपस्थित रहे।