सीजनल सब्जियों के भाव मे तेजी से बिगड़ा रसोई का बजट

0
318

सब्जी के भाव आसमान पर , 50 के ऊपर बिक रही सीजनल सब्जी, आलू और टमाटर के भाव मे उछाल

नवलोक समाचार। इन दिनों बाजार में सब्जी की आवक कम होने के चलते सब्जी के दामों में तेज़ी बनी हुई है , आम आदमी और गरीब परिवार सब्जी खाने से गुरेज कर रहा है । सब्जियों का राजा आलू इन दिनों 40 रुपये प्रतिकिलो बिक रहा है बाकी सभी सीजनल सब्जियां 60 और 80 रुपये प्रति किलो के भाव से बाज़ार में बिक रही है। सब्जी विक्रेता दुकानदारो का कहना है कि बारिश के बाद अब बाजार में सब्जी बहुत कम या रही है जिसके कारण भाव बढ़ गए है।
बता दे कि मध्य प्रदेश भर में इन दिनों आलू टमाटर सहित रोजमर्रा उपयोग में आने वाली प्याज लहसुन और हरी मिर्च के भाव 50 के आसपास पहुच गए है। उधर सीजनल सब्जियों में लौकी , गिल्की , बरवटी , भिंडी , शिमला मिर्च के भाव 80 रुपये किलो पहुच गए है। तो परमल , कद्दू और पालक भी 20 रुपये की पाव बिक रही है , ये हाल होशंगाबाद जिले का ही नही बल्कि भोपाल , इंदौर सहित जबलपुर ओर छिंदवाड़ा का भी है। होशंगाबाद के सोहागपुर तहसील के एक सब्जी व्यापारी बंटी कहार का कहना है कि तेज़ बारिश के कारण आसपास के किसानों की सब्जी की फसल खराब हो गई है अब जो सब्जी यहां आ रही है वह छिंदवाड़ा भोपाल मंडी से आ रही है साथ ही खपत की तुलना में सब्जी की आवक भी आधी से कम होने के कारण भाव मे तेजी आई है । लेकिन नवरात्रि तक सब्जियों के भाव कम होने की संभावना है , बता दे कि सब्जियों में डालने के लिये घर घर मे उपयोग किया जाने वाला आलू अचानक से महंगा हो गया है। आलू के भाव 20 रुपये से सीधे 40 रुपये प्रति किलो तक पहुच गया है , वही टमाटर भी 80 रुपये किलो बिकने के कारण आम आदमी की सब्जी का स्वाद भी कमजोर हो गया है तो बजट बनाकर घर चलाने वालों की रसोंई का बजट बिगड़  गया है।